मतदान प्रतिशत बढ़ाने के लिए जन जागरूकता कार्यक्रम करें

Spread the love

: जिन विभागों ने कर्मचारियों का डाटा पोर्टल पर अपलोड नही किया, जल्द फीड कराएं

: मतदान केंद्र तक आवागमन मार्ग दुरुस्त करें

चित्रकूट। जिलाधिकारी श्री शुभ्रान्त कुमार शुक्ल की अध्यक्षता में आगामी निर्वाचन के संबंध में समस्त प्रभारी अधिकारियों के साथ एक समीक्षा बैठक कलेक्ट्रेट सभागार में संपन्न हुई।
जिलाधिकारी ने जिला विकास अधिकारी से कहा कि जिन मास्टर ट्रेनर्स को प्रशिक्षण ईवीएम मशीन व सामान्य प्रपत्रों का दिया गया है उन्हें दूसरी बार भी प्रशिक्षण दिलाया जाए। सहायक जिला निर्वाचन अधिकारी से कहा कि पीठासीन अधिकारी की जो डायरी है उसे जिला विकास अधिकारी को उपलब्ध कराएं ताकि मास्टर ट्रेनर्स को उपलब्ध कराई जा सके और वह अच्छी तरह से अध्ययन कर सकें। परियोजना निदेशक को निर्देश दिए कि जिन शासकीय अधिकारियों कर्मचारियों की ड्यूटी मतदान में लगाई जाती है और वह ईडीसी और पोस्टल बैलट पेपर के माध्यम से वोट डालते हैं उसका प्रतिशत गत चुनाव में कम रहा है इस बार और बूथ बढाकर शासकीय कार्मिकों का शत-प्रतिशत मत डलवाया जाए।।जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी को निर्देश दिए कि जिन कर्मचारियों का डाटा निर्वाचन पोर्टल पर फीड किया गया है उसमें जो ग्रेड आदि की समस्या है उसे अभी से ही देख लिया जाए। उन्होंने कहा कि जिन विभागों ने मतदान में लगाए गए कर्मचारियों अधिकारियों का डाटा फीड करने के बाद फ्रीज अभी तक नहीं किया वह तत्काल करा दे। उन्होंने जिला सूचना विज्ञान अधिकारी को निर्देश दिए कि मतदान संपन्न कराने के लिए कितने अधिकारियों कर्मचारियों की आवश्यकता है उसी के अनुसार व्यवस्था कराएं अगर कम है तो अन्य जनपद से भी व्यवस्था कराई जाए। उन्होंने समस्त उप जिलाधिकारियों से कहा कि अपने-अपने क्षेत्र में रूट चार्ट का प्लान बना ले क्योंकि नए मतदान केंद्र बनाए गए हैं जहां पर कमियां आवागमन की है तो अवगत कराएं ताकि उसे समय रहते ठीक कराया जा सके। अपने क्षेत्र में पुलिस व राजस्व की टीम के साथ बैठक अवश्य कर ले, ताकि कोई समस्या न हो। आदर्श आचार संहिता के निर्देश जो दिए जाएंगे उनका शत-प्रतिशत अनुपालन सुनिश्चित कराया जाए। उन्होंने जिला पंचायत राज अधिकारी तथा अधिशासी अधिकारियों से कहा कि जिन शासकीय भवनों व जगहों पर विभिन्न पार्टियों के राजनैतिक दलों का प्रचार-प्रसार दीवाल आदि में लेखन हैं उन जगहों का चिन्हांकन करा लें ताकि आदर्श आचार संहिता लागू होते ही हटाया जा सके। जिला विद्यालय निरीक्षक श्री बलिराज राम को निर्देश दिए कि स्वीप के कार्य को बढ़ाया जाए उसमें भीड़भाड़ वाले क्षेत्र चिन्हित करके रैली आदि के माध्यम से जन जागरूकता कराया जाए। जहां पर गत चुनाव में मतदान का प्रतिशत कम हुआ है वहां पर अधिक फोकस करने की जरूरत है। जिलाधिकारी ने उप जिलाधिकारियों से कहा कि जो निर्वाचन आयोग द्वारा दिव्यांग तथा 80 वर्ष के जो मतदाता हैं उनको निर्धारित प्रपत्र पर हां तथा न का जवाब भरकर भेजें उसकी अभी से ही व्यवस्था कर ले और उन्हें बूथ पर वाहनों, व्हीलचेयर ट्राई साइकिल आदि कैसे लाना है ले जाना है उसकी भी व्यवस्था कर लें। अधिशासी अभियंता विद्युत को निर्देश दिए कि जिन मतदान केंद्रों पर विद्युत व्यवस्था नहीं है वहां पर तत्काल करा दें। जिलाधिकारी ने सखी बूथ, वेबकास्टिंग, वाहन व्यवस्था, ईवीएम, वीडियोग्राफी, प्रेक्षकों की व्यवस्था, एमसी एमसी, कंट्रोल रूम, संवेदनशील अतिसंवेदनशील बूथों, पोस्टल बैलट पेपर, मतदाता सूची, रैम्प, फर्नीचर, पेयजल आपूर्ति, शौचालय आदि विभिन्न बिन्दुओं पर समीक्षा की गई।
बैठक में मुख्य विकास अधिकारी श्री अमित आसेरी, अपर जिलाधिकारी न्यायिक वंदिता श्रीवास्तव, उप जिलाधिकारी कर्वी पूजा यादव, मानिकपुर श्री प्रमेश श्रीवास्तव, मऊ श्री नवदीप शुक्ला, राजापुर श्री प्रमोद कुमार झां, वरिष्ठ कोषाधिकारी सीजी शैलेश कुमार, जिला विकास अधिकारी श्री आरके त्रिपाठी, परियोजना निदेशक श्री ऋषि मुनि उपाध्याय, जिला विद्यालय निरीक्षक श्री बलिराज राम व जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी श्री राजीव रंजन मिश्र सहित संबंधित अधिकारी मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!